List of Respected Production Houses where talents are considered to provide an opportunity of acting to STRUGGLERS (Fresher/newcomer/Actors) with all due respect……..

Esselvision
1st floor, Fun republic compound,
Balaji Telefilms lane, Link Road,
Andheri W, Mumbai.

Triangle Films
1st floor, Vip plaza,
Back lane of Crystal plaza,
Link Road, Andheri W, Mumbai

Rowdy Rascals,
Bungalow no 37, Aram nagar 2,
Versova, Andheri W, Mumbai
127, aram nagar part 2,
Versova, Andheri W, Mumbai

BBC W India,
4th Floor, Construction House A,
24th Road, Opposite Khar Telephone
Exchange, Khar west, Mumbai.

Four lion production,
501, 5th Floor, Blue Moon Building,
Opp koyla resort, New Link Road,
Andheri W, Mumbai

Rose movies
103 VIP Plaza, B-7,
Near morya landmark 2 Link Road,
Andheri W), Mumbai

Shashi sumeet productions,
6th floor, Lotus Grandeur,
Opp Gundecha Symphony,
Andheri W, near Country Club,
Veera adesai Road, Andheri W,
Mumbai

Rising star multimedia,
201, Maruti Business Park,
Next Lane of Hard Rock,
Yash Raj Lane, off Veera Desai Road,
Andheri W, Mumbai

Rashmi Sharma telefilms,
14th floor, Grandeur, Near Country Club,
Veera Desai Road, Andheri W, Mumbai

Peninsula production,
2nd floor, Bhukhanwala Bldg.,
Opp Morya Estate, Andheri W, Mumbai

Bodhi Tree Production,
6th floor, Reliable complex,
Near Heera Panna, Andheri W, Mumbai

Cid Auditions,
Fireworks production,1st floor,
Richa Building, Andheri W, Mumbai

Dashami Creations,
102, Jai Sri Krishna Complex,
Opp Yashraj Studio, Next to Balaji Telefilms,
Andheri W, Mumbai

LSD Production,
1105, Shri Krishna Tower,
Opp. Laxmi Industrial Estate,
Linking road, Andheri W, Mumbai

Saffron Broadcast & Media Ltd.
4th Floor, Aashiyana Building,
Near Fable Restaurant,Juhu, Mumbai

Purple Canvas,
Sidhu society, Near Gajanan Mandir,
Off Best Colony, Ram mandir road, Mumbai

Jasvandh Production,
304, Banarasi Heritage,
Near Inorbit, Link Road,
Malad W, Mumbai

Gaonwala Production,
403/404, Paarth Business Plaza,
Meeth Chowki, Link Road, Next to Evershine Nagar,
Malad W, Mumbai

Full House Media Pvt. Ltd.
B/114, Crystal Plaza,
Opp.Infinity Mall, New Link Road,
Andheri W, Mumbai 400053

Resonance Digital LLP,
F/802, Lotus Corporate Park, Off. Western Express Highway, Goregaon E, Mumbai


Shaika Films PVT LTD
203 – Linkway Estate, Near Bata Show, Chincholi Bunder, Bill Date Off, New Link Road, Malad West, Mumbai – 400064


Mahesh Pandey Production
408, 4th Floor, Shree Kamdhenu Estate, Behind Vibgyor High School, Mindspace, Chincholi Bunder Rd, Malad West, Mumbai, Maharashtra 400064


Swastik Production,
166, Swastik House, Swami Vivekanand Road, Andheri West, Mumbai, Maharashtra 400058


Rohit Shetty Picture,
600, Landmark Building, New Link Rd, Andheri (W), Mumbai, Maharashtra.


Frame Production,
606, 6th Floor, Morya Landmark II, Opp. Infinity Mall, New Link Rd, Andheri West, Mumbai, Maharashtra 400053


Shakutalam Telefilms Pvt. Ltd.
203, 2nd Floor, Durga Building, Plot No. – 8A, Veera Industrial Estate, Behind Mukta Art Studio, Andheri (W)
Mumbai – 400058


Salman Khan Television
18th floor,Grandeur Building, Off Veera Desai Road, Andheri W, Mumbai


RAJSHRI PRODUCTIONS
Bhavana, 1st Floor, 422 Veer Savarkar Marg, Dadar West, Prabhadevi, Mumbai, Maharashtra 400025


OPTIMYSTIX
101, Shanti Tower, Opp Corpration Bank, Near Versova Telephone Exchange, 4 bunglow, Mhada, Andheri W, Mumbai 400053


PARIN MULTIMEDIA

A-1303, Blue Mountains Appartments, Upper Govind Nagar, Malad East, Mumbai – 400097


BIG SYNERGY
15th floor, Lotus Grandeur, Opp Gundecha Symphony, Near Country Club, Veera adesai Road, Andheri W, Mumbai


YASHRAJ

YASHRAJ CASTING OFFICE, 3rd FLOOR, FILMFARE WELFARE BUILDING, AJIVASAN COMPOUND, NEAR S.N.D.T COLLEGE, SANTACRUZ W, MUMBAI 400054.



Casting

फिल्म और सीरियल में कास्टिंग कैसे होती है ?

यह सवाल बहुत लोगों के मन में होता है जो मुंबई में फिल्मी दुनिया में अपनी जगह बनाना चाहते हैं चाहे अपनी किस्मत आजमाना चाहते हैं लेकिन उन्हें पता नहीं होता कि मुंबई में आखिर कास्टिंग होती कैसे है। बहुत सारे भ्रम है कि कास्टिंग के नाम पर रजिस्ट्रेशन के नाम पर पैसे लिए जाते हैं कार्ड बनवाने के नाम पर और इस तरह से कलाकारों को ठगा भी जाता है । जो आर्टिस्ट नए-नए हैं पहली बार मुंबई आए हैं और उन्हें पता नहीं है कि कास्टिंग कैसे होती है कहां पैसा देना पड़ता है कहां पैसा नहीं देना पड़ता है। उनको अगर इस चीज की जानकारी नहीं है तो वह किसी न किसी ठगी के शिकार हो जाते हैं तो पहले हमें जानना चाहिए कि आखिर कास्टिंग होती कैसे है और कास्टिंग करता कौन है? तो पहले और आज की कास्टिंग के तौर-तरीकों में काफी फर्क है पहले क्या होता था कि डायरेक्टर कास्टिंग किया करते थे। वही आर्टिस्ट को बुलाकर अपने कहानी और फिल्मों के पात्र के अनुसार कैरेक्टर का चुनाव कर लेते थे और उन्हें फाइनल कर देते थे और शूटिंग स्टार्ट हो जाती थी लेकिन धीरे-धीरे डायरेक्टर और प्रोड्यूसर दोनों मिल बैठकर कैरेक्टर का चुनाव करते थे और कास्ट करते थे पर बाद में धीरे-धीरे यह दोनों ही व्यस्त रहने लगे प्रोड्यूसर अपने मीटिंग्स में डायरेक्टर अपने एपिसोड पूरे करने में तो आखिर कास्टिंग होगी कैसे ? और कास्टिंग करेगा कौन? इसके लिए तय किया गया कि एक कास्टिंग डायरेक्टर रखा जाय, प्रोडक्शन हाउस में कास्टिंग डायरेक्टर होने लगा और प्रोडक्शन के लिए कास्टिंग डायरेक्टर का काम होता है डायरेक्टर से कहानी पर और उसके पात्रों पर डिस्कस करना और उसके पात्रों के अनुसार आर्टिस्ट को चुनना उन्हें कास्ट करना ।

इस तरह से प्रोडक्शन में कास्टिंग डायरेक्टर आर्टिस्टो को बुलाकर उनका ऑडिशन लेता है और उन्हें जो कैरेक्टर के हिसाब से फिट बैठता है ,उसे वह कास्ट कर लेता है यानी कि फाइनल कर लेता है। उसके बाद वह वह प्रोड्यूसर और डायरेक्टर से उस आर्टिस्ट को मिला देता है और उसके बाद उसकी डेट फाइनल हो जाती है और वह शूटिंग करने लगता है । अब यहां समझने वाली बात यह है कि इन सब कामों के लिए कास्टिंग डायरेक्टर को सैलरी कौन देता है तो कास्टिंग डायरेक्टर चुकी प्रोडक्शन हाउस के थ्रू होता है तो उसकी सैलरी चाहे उसे जो भी पैसे मिलते हैं प्रोडक्शन से मिलते हैं वह आर्टिस्टो से एक पैसा नहीं लेता है और यहां एक बात और कि कास्टिंग डायरेक्टर की तारीफ भी होती है कि इसने इतना अच्छा कार्य किया। इसको कहते है कास्टिंग।

लेकिन अभी क्या है कि कुछ प्रोडक्शन कास्टिंग डायरेक्टर नहीं रखते ।वह यह कास्टिंग का काम कोऑर्डिनेटर को दे देते हैं । कोऑर्डिनेटर कास्टिंग डायरेक्टर का ही काम करता है लेकिन वह प्रोडक्शन से बंध के काम नहीं करता है। वह प्रोडक्शन के लिए ही काम करता है उसका काम होता है आर्टिस्टो को कास्ट करना और प्रोड्यूसर के रिक्वायरमेंट के हिसाब से उन्हें बताना । इसमें क्या होता है कि कोऑर्डिनेटर प्रोडक्शन से पैसे नहीं लेता है वह लेता है आर्टिस्टो से। हालांकि वो काम दिलाता है इसीलिए आर्टिस्टो के पेमेंट से उसे बीस प्रतिशत कमीशन देना पड़ता है। जो की कानूनन सही भी है।

एक बार कास्टिंग कोऑर्डिनेटर ने कास्टिंग फाइनल कर दी प्रोड्यूसर को और डायरेक्टर को पसंद आ गई तो फिर उनके डेट लॉक हो जाते हैं और फिर शूटिंग चलती रहती है। अब तो यह बात साफ हो गई कि कास्टिंग डायरेक्टर कौन है और कास्टिंग को – ऑडिनेटर कौन है।
कास्टिंग डायरेक्टर और कास्टिंग कोऑर्डिनेटर के अलावा दो लोग और होते हैं एक होते हैं कास्टिंग ड्रीमर, और दूसरा कास्टिंग चीटर इन लोगों का जो काम होता है वह आर्टिस्ट को लूटना होता है सीधे शब्द में उनसे पैसे ऐंठना होता है, आर्टिस्ट कार्ड के नाम पर, रजिस्ट्रेशन के नाम पर ,काम दिलाने के नाम पर और इन लोगों के झांसे में आर्टिस्ट फंस जाता है । उसके बाद यह आर्टिस्ट का नंबर तक ब्लॉक कर देते हैं फिर उनका फोन नहीं उठाते हैं ऐसे लोगों से बचने के लिए इन लोगों के झांसे में आने से बचने के लिए उपरोक्त वीडियो देखना बहुत जरूरी है। इस वीडियो में बताया गया है कि कैसे कास्टिंग ड्रीमर ड्रीम दिखाकर सपना दिखाकर दूरदराज के गांव और शहर से आने वाले आर्टिस्टो को मुंबई में बैठे बैठे लूट लेते हैं और मुंबई में कास्टिंग के नाम पर रजिस्ट्रेशन के नाम पर, आर्टिस्ट कार्ड बनाने के नाम पर पैसे लूट लेते हैं । मैंने खुद अनुभव किया है जो फ्रेशर आर्टिस्ट होते हैं उनसे कहीं तीन हजार तो कहीं तीस हजार तक की डिमांड की जाती है। मैं खुद एक जगह गई थी जहां फ्रेशर आर्टिस्टों से रजिस्ट्रेशन के पैसे लिये जा रहे थे और मैंने जब विरोध किया तो बोला गया ये आपके लिये नहीं बल्कि फ्रेशर आर्टिस्टों के लिये है।

आर्टिस्ट कार्ड बनाने के नाम पर हालांकि आर्टिस्ट कार्ड जरूरी है लेकिन बिना आर्टिस्ट कार्ड का इंडस्ट्री में काम नहीं मिलेगा यह भी नहीं हो सकता । आपको सेफ्टी के लिए कार्ड बहुत जरूरी है। अगर आपका प्रोडक्शन में कहीं पैसा फंस गया उसको निकलवाना हो या आपके साथ कोई दुर्घटना घट गई उसमें हेल्प करना हो इस सब में जो हमारा एसोसिएशन होता है जो कार्ड प्रोवाइड करता है , आर्टिस्ट का हेल्प करता है और मेरे साथ भी ऐसा हुआ था बड़े प्रोडक्शन में पैसा फंस गया था। अगर मेरे पास आर्टिस्ट कार्ड नहीं होता तो मेरे पैसे वापस मुझे नहीं मिलते। लेकिन यह कहना कि अगर आपके पास आर्टिस्ट कार्ड नहीं है तो आपको काम नहीं मिलेगा ऐसा नहीं है। मेरा यही कहना है कि जो भी आर्टिस्ट अपना किस्मत आजमाना चाहते हैं फिल्मी दुनिया में , तो इस वीडियो को जरूर देखें ताकि वह कहीं ठगे जाने से अपने आपको बचा सके और सही जगह पर पहुंचकर ऑडिशन दे स्ट्रगल करें। आर्टिस्ट कार्ड कहां बनता है ,कैसे बनता है, कितने में बनता है, यह सब आपको इस वीडियो में मिल जाएगा।ये विडियों आपका मार्गदर्शन करेगा।

आपके सुझाव एवम विचारों का स्वागत हैं। कृपया वीडियो को देखकर उसे सब्सक्राइब करना न भूलिएगा। धन्यवाद ।।।


ORIGINAL CASTING Vs FAKE CASTING

How many types of casting are there ?

Who do casting and how they do it ?

How they earn money from the new strugglers ?

First of all the original casting will be done by production house where a casting director takes the audition of the artist as there requirement and he see the artist who is perfect for his role. Then he final them and meet them to the director and production. And when he got the date he starts going on the shoot. This is real casting. But long time ago director of the show does the casting. But the work of director increased and they appointed a casting director and now he see the work of audition. There is one thing that artist should not give anything to the cast but he earns money from them.

The question is who is the casting cordinator. So the casting cordinator also does work for cast but he doesn’t take money from them. He took money from the artist as 25% commission. He doesn’t doesn’t done any wrong work it is the rule of the cast. He doesn’t cheat them.

So the question is who does cheating with the artists. We call this people as casting dreamer or casting cheater. Casting dreamer is a person who lives in a Mumbai and tell everyone that he will become and superstar and then he demands for the money to make artist card and other things. And when he got it, he block the no. of artist and cheat them. In the case it’s difficult to find the casting dreamer. Casting cheater tells fresher artist that it is necessary to make a card otherwise u will not able to go and do the work. And this they earn money from them. From one person they earn ₹2000 or more than it. New astist doesn’t know this how card be made
Where to give money for it. When to make it. Who are cheating them and who are not. So I suggest them to first take all information about it and then they should come in this line. And how they got this knowledge from the video.

U will get all answers & Crystal clear informations about Real Casting & Fake Casting from this video.

Please beware from THUGS OF BOLLYWOOD…

Original casting and fake casting.
How many types of casting are there? Who do casting and how they do it? How they earn money from the new strugglers?
First of all the original casting will be done by production house where a casting director takes the audition of the artist as there requirement and he see the artist who is perfect for his role. Then he final them and meet them to the director and production. And when he got the date he starts going on the shoot. This is real casting. But long time ago director of the show does the casting. But the work of director increased and they appointed a casting director and now he see the work of audition. There is one thing that artist should not give anything to the cast but he earns money from them.
The question is who is the casting cordinator. So the casting cordinator also does work for cast but he doesn’t take money from them. He took money from the artist as 25% commission. He doesn’t doesn’t done any wrong work it is the rule of the cast. He doesn’t cheat them.
So the question is who does cheating with the artists. We call this people as casting dreamer or casting cheater. Casting dreamer is a person who lives in a Mumbai and tell everyone that he will become and superstar and then he demands for the money to make artist card and other things. And when he got it, he block the no. of artist and cheat them. In the case it’s difficult to find the casting dreamer. Casting cheater tells fresher artist that it is necessary to make a card otherwise u will not able to go and do the work. And this they earn money from them. From one person they earn ₹2000 or more than it. New astist doesn’t know this how card be made
Where to give money for it. When to make it. Who are cheating them and who are not. So I suggest them to first take all information about it and then they should come in this line. And how they got this knowledge from the video. U will get all the answers from this video.

Please watch video to Subscribe, Like & Comments.


सपना (Dream)

सपना सभी आर्टिस्ट देखते हैं, एक बड़े पर्दे पर अपने आप को देखने का, सुपर स्टार बनने का ,एक अच्छा कैरेक्टर आर्टिस्ट बनने का ,एक अच्छा हीरो हीरोइन बनने का । बहुत सारे दूर-दराज के गांवों और शहरों में ऐसे आर्टिस्ट भरे पड़े हैं। वह चाहते हैं कि मुंबई जैसे महानगरी में जाकर स्ट्रगल करे फिल्मी दुनिया में , पर उनके पांव में डर की बेड़ियां पड़ जाती है, बंधन पड़ जाते हैं , कि आखिर वहाँ जाएंगे तो रहेंगे कहाँ ? कैसे सरवाइव करेंगे ?किसके पास रहेंगे? हां यह बात अलग है कि जिनके रिश्तेदार हैं उनके लिए तो थोड़ा-सा आसान है यह रास्ता और यहाँ आकर रहना, बाकी स्ट्रगल तो उन्हें करना ही पड़ेगा लेकिन जिनके कोई रिश्तेदार नहीं हैं जिनका कोई बैकग्राउंड का यहाँ नहीं है, कोई उनका दोस्त मित्र नहीं है उनके लिए तो बहुत ही कठिनाई है और इन्हीं सारी शंकाओं के कारण लोग मुंबई में आने का सपना छोड़ देते हैं। सोचते हैं यहाँ से तो चले जाएंगे पर वहाँ जाकर क्या होगा? कैसे स्ट्रगल करेंगे ?कैसे अपने आपको वहाँ के संघर्षों से दो-चार करने के लिए तैयार करेंगे ? वहाँ का खर्च कौन देगा ? नाना प्रकार के सवाल उनके मन – मस्तिष्क को झकझोरता है और अंततः यही होता है कि वे थिएटर तक ही सीमित रह जाते हैं । अपने गांव कस्बों तक ही सीमित रह जाते हैं । ऐसे आर्टिस्ट को मार्गदर्शन देता हुआ यह “वीडियो” जो कि उन्हें बताता है कि ठीक है आप स्ट्रगल करने के लिए उतारू हैं, आप संघर्ष कर सकते हैं ,उसके लिए आपने पूरी पेशेंस बना रखी है, पूरी हिम्मत जुटा रखी है, तो आपको करना क्या है? आप कैसे आकर यहाँ सरवाइव कर सकते हैं ?कैसे रह सकते हैं ? कहाँ रह सकते हैं? कैसे ऑडिशन दे सकते हैं और अपने आप को आजमा सकते है। तो उन्हें डरने की कोई जरूरत नहीं है । जिनकी आर्थिक स्थिति बहुत ही कमजोर है, उनके लिए यह बहुत ही तकलीफ भरा है, फिर भी अगर किसी तरह से वह यहाँ आने का फैसला करते हैं तो उन्हें भी डरने की जरूरत नहीं है। आ सकते हैं और फिर कहाँ रहेंगे , कम से कम खर्च में रहकर ऑडिशन और स्ट्रगल का रास्ता अपना सकते है। उनके तमाम प्रश्नों का उत्तर इस विडियों में मिलेगा।
अतः मेरा यही कहना है कि आप इस विडियों को पुरा देखें। ताकि अपने आप को मुंबई फिल्मी दुनियां में स्ट्रगल करने के लिए तैयार कर सकें । हाँ कोई – कोई आर्टिस्ट ऐसे होते हैं जो चाहते है कि उन्हें आकर स्ट्रगल न करना पड़े और काम असानी से मिल जाय। परन्तु ऐसे अपवाद में दो-तीन प्रतिशत आर्टिस्ट होंगे जिन्हें आते ही काम मिलने के साथ नेमफेम भी मिल जाता है । इस भ्रम में न पड़ते हुए अपने आपको मानसिक रूप से तैयार करके ही आना चाहिए। तब अपने सपने को साकार कर सकते है ।

आपके सुझाव एवं विचारों का स्वागत है ।

कृपया वीडियो को देखकर उसे सब्सक्राइब करना न भूलिएगा।

धन्यवाद।।।


‘How to manage living in Mumbai for artist.’

Every artist think this question before coming to Mumbai. That where they will live. Where they go for audition. There are some artist who doesn’t have much money. In this line it will be difficult for them to become a superstar. Some artist thinks this and doesn’t come here and there talent doesn’t comes in front of all. For this artist this video will perform as a guide. By seeing this video u will know about know that where to live in a low budget? Where auditions site are near? Where u can go easily and give audition?
Now a days in Mumbai it’s not a good idea to come here and struggle without knowledge because the big problem is where to live. Every 11 months u should change your house. Because of this u should face some problems. It is good for those whose relatives, family or friends live in Mumbai. But it is difficult for those whose relatives, family or friends doesn’t live here. But they doesn’t need to fear who had decided to come here and show there talent to the world. And they should see this video. So that they can improve themself and they should know that there are places available to live in low budget. And they will get the answers of all questions.
Some artist think that it is easy to stay here and survive. There are only some artist who got lucky and become an actor easily. Some think that they will do a part time job and also do the struggle also. But some of them can do this not everyone. And then they become depress and become return. So I will suggest him to come here with all information and preparation. So they should not face this kind of problems.

Watch the video to subscribe, like & comment.


How to enter in Tv/Film Industry of Mumbai ?

बॉलीवुड में अपनी जगह कैसे बनाएं ?

 

बॉलीवुड में कला डांसिंग, एक्टिंग, सिंगिंग आदि का ज्ञान तो हम कहीं भी ले सकते हैं, छोटे शहरों में भी ले सकते हैं गांव में भी ले सकते हैं ,पर इसको असली निखार कहाँ दिया जा सकता है? इसको असली पहचान कहाँ दिया जा सकता है ? सबका अपना-अपना क्षेत्र है जहाँ तक एक्टिंग की बात है तो एक नई पहचान, एक नई उड़ान तो हम छोटे छोटे शहरों और गांव में तो नहीं दे सकते, न हम इसे इंटरनेशनल लेवल पर पहचान दिला सकते हैं ,तो फिर क्या किया जाए? इसके लिए लोग मुंबई बॉलीवुड का रुख करते हैं ,जी हां यहाँ हजारों की संख्या में स्ट्रगलर आते हैं एक्टिंग के लिए स्ट्रगल करते हैं ताकि उनके अंदर जो कला है उसको निखारा जा सके, उसको एक पहचान दिया जा सके, तो पहली समस्या है कि मुंबई में जाएंगे तो रहेंगे कहाँ? कहाँ से जाकर ऑडिशन देना आसान होगा। शूटिंग करना आसान होगा। कौन – सा ऐसा एरिया है जहाँ पर ऑडिशंस होते हैं ? कौन – सा ऐसा एरिया है जहाँ पर कम खर्च में रहा जा सके ? जहाँ कम रूम रेंट देना पड़े, आदि आदि। हालांकि बहुत सारे सीरियल फिल्म वगैरह का ऑडिशंस मुंबई में अंधेरी से लेकर मलाड के बीच में होता रहता है । या यूं कहें कि इधर ही होता है । उसके लिए कुछ लोग जो आर्थिक रूप से मजबूत है वह अंधेरी में रहते हैं जहाँ उन्हें बहुत पैसे खर्च करने पड़ते हैं। पर जो आर्थिक रुप से कमजोर हैं उनके लिए क्या, तो उनके लिए मुंबई के कुछ उपनगर है जैसे मीरा रोड, भायंदर ,नायगांव , वसई ,नालासोपारा, विरार इन जगहों पर कम पैसे में रहने का व्यवस्था हो जाएगा अर्थात वन रूम किचन चाहिए तो वन रूम किचन भी कम पैसे में आ जाता है i हां थोड़ी मुश्किल आने जाने की होती है। ऑडिशन में जाने के लिए शूटिंग में जाने के लिए । वैसे अधिकांश शूटिंग नायगांव, मीरा रोड, वसई, नालासोपारा में भी होने लगा है, तो शूटिंग वगैरह में जाने के लिए उन्हें कम तकलीफ होगी । वैसे थोड़ी- सी तकलीफ तो उठानी ही पड़ती है, तो भाई कुछ करना है तो तकलीफ से घबराना क्या , क्योंकि आज जो भी सुपरस्टार हैं जिन्होंने अपनी पहचान बनाई है उन्होंने ऐसे ही नहीं बनाई उन्हें भी मेहनत के साथ – साथ तकलीफों का भी सामना करना पड़ा है , तो हमें भी उनसे प्रेरणा लेना चाहिए

पहले और अब के स्ट्रगलरों में एक अंतर है , अंतर यह है कि पहले जो मुंबई में आते थे उन्हें ज्ञान कम होता था कि किस एरिया में कम में रहा जा सके कम खर्च में स्ट्रगल किया जा सके , जिसके कारण उन्हें बहुत से तकलीफों का सामना करना पड़ता था, पर अब ऐसी बात नहीं है अब तो हर कुछ गूगल पर अवेलेबल है। अब यह सब मुश्किल नहीं है । अब यह सारी चीजें आपको वेबसाइट पर मिल जाएगी कि कहाँ पर और किस एरिया में ,कितना में, कैसे रहा जा सके, जहाँ से ऑडिशन देना भी आरामदेह हो, प्रोडक्शंस नजदीक हो और शूटिंग सेट भी। जहाँ तक रही इस वीडियो की बात तो यह वीडियो आपके बहुत सारे समस्याओं का समाधान कर सकता है। जो भी यहाँ आकर स्ट्रगल करना चाहते हैं उन्हें इस वीडियो से जो मेन मेन चीज है जैसे – रहने ,खाने ,ऑडिशंस एरिया, शूटिंग एरिया ,आदि का ज्ञान तो प्राप्त हो ही जाएगा।
अतः आप अगर मुंबई में आकर स्ट्रगल करना चाहते हैं तो घबराने की कोई जरूरत नहीं। अब आप घर बैठे ही ,यहाँ आने से पहले ही, यहाँ पर रूम बुक कर सकते हैं ,रूम ले सकते हैं ,ताकि आने के बाद किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े, और अपना स्ट्रगल सुचारू रूप से किया जा सके। आप घर बैठे सब कुछ चेक कर सकते हैं कि मुंबई में किस एरिया में आपके बजट के हिसाब से रहा जा सकता है।

आपके सुझाव एवं विचारों का स्वागत है । कृपया वीडियो को देखकर उसे सब्सक्राइब करना न भूलिएगा।

धन्यवाद।।।


क्या अभिनय सीखा जा सकता है ?

How to learn ACTING ?

जैसे हम अपनी पढ़ाई करने के लिए स्कूल का रुख करते हैं उससे आगे की पढ़ाई करने के लिए कॉलेज जाते हैं, इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज में जाते हैं , लॉ की पढ़ाई करने के लिए लॉ कॉलेज में जाते हैं, डॉक्टरी की पढ़ाई करने के लिए मेडिकल कॉलेज में जाते हैं, उसी तरह अगर हमारे अंदर एक्टिंग सीखने की ललक है तो हम एक्टिंग क्लासेस की तरफ रुख करते हैं। वैसे तो एक्टिंग हर इंसान के अंदर होती है ,हर पल हम कुछ ना कुछ अभिनय करते रहते हैं । घर में ही कभी मां से कभी पिताजी से कुछ न कुछ बहाना बाजी इस तरह से करते हैं कि उन्हें यकीन ही नहीं हो पाता कि हम झूठ बोल रहे हैं या सच बोल रहे हैं । कभी हमारे मां पिताजी भी झूठमूठ का हमें डांटते हैं, और वो ऐसा इसलिए करते हैं ताकि हम थोड़ा डर कर उनकी बातें सुने उनके बताए हुए रास्ते पर चले ।

अभिनय हमारे जीवन का एक अंग है । हमें उसी को निखारने के लिए एक्टिंग क्लासेस की जरूरत पड़ती है अर्थात नाट्य विद्यालयों की आवश्यकता होती है। जो बच्चे नाट्य क्षेत्र में अपना कॅरियर बनाना चाहते है, अपने आप को बढ़ाना चाहते हैं आगे ले जाना चाहते हैं उनके लिए मेरे हिसाब से एक्टिंग क्लासेस या थिएटर ग्रुप जॉइन करनी चाहिए । हमारे देश में बहुत सारे ऐसे इंस्टिट्यूशन/ग्रुप है , जहां पर एक्टिंग सिखाई जाती है। नाटक क्या है ? यह बताया जाता है। नाटक के कौन-कौन से अंग है ? वह बताएं जाते हैं ,कितने रस हैं वह बताएं जाते हैं, जैसे करुण रस हुआ ,हास्य रस, रौद्र रस, प्रेम रस, विरह रस , वात्सल्य रस आदि नौ तरह के रस होते हैं । उनके बारे में बताया जाता है। जो हमारे अभिनय के लिए बहुत ही जरूरी है । जब तक हम यह नहीं समझेंगे कि क्रोध कैसे करना है, क्रोध का भाव भंगिमा क्या है, रौद्र का भाव भंगिमा क्या है, करुणा का भाव भंगिमा क्या है ,तब तक हमारे एक्टिंग में वह चीज नहीं आएगी जो रियल लगे जिसे देख कर दर्शक साधारणीकरण का भाव महसूस करें । उसे लगे ही नहीं कि हम एक्टिंग कर रहे हैं । दर्शक को यह लगना चाहिए कि सही में हम वही हैं । राम का कैरेक्टर कर हैं तो हमें राम ही दिखना है ,राम का ही भाव मेरे अंदर होने चाहिए। राम को जीना है । इन सारी चीजों का ज्ञान हमें नाट्य विद्यालयों से मिलता है। यह नाट्य विद्यालय देश के कौन-कौन से हिस्से में है ? कौन से विद्यालय सरकार के द्वारा मान्यता प्राप्त हैं ? कौन से प्राइवेट हैं ? कहां किसकी कितनी फीस है ? कब – कब एडमिशन होता है , इन सारे सवालों का जवाब उपरोक्त वीडियो में मिलेगा । एक्टिंग सीखने के बाद फिल्म इंडस्ट्री में एंट्री कैसे लेना है? कहां – कहां जाकर किस-किस प्रोडक्शन में ऑडिशन कैसे देना है ? इन सारी चीजों के बारे में वीडियो में बताया गया है और उपरोक्त इन सारे विषयों पर प्रकाश डाला गया है । यह वीडियो देखने से पता चलता है कि जो भी आर्टिस्ट अपने कला को निखारना चाहता है , बढ़ाना चाहता है, वह कैसे अपने आप को निखार सकता है।
ऐसे बड़े-बड़े इंस्टिट्यूट जहां से बड़े-बड़े आर्टिस्ट निकले है। उस संस्था में कैसे जाएं, और अपने अभिनय को एक आयाम कैसे दें ? फिल्म इंडस्ट्रि में आने के लिये क्या तैयारी करनी है ? कैसे तैयारी करनी हैं ? किस तरह से ऑडिशन लिंक बनाना है, यहाँ तक कि स्क्रीप्ट किस- किस तरह का होना चाहिये , इन सारी विषयों पर दिशानिर्देश है ।

आपके सुझाव एवं विचारों का स्वागत है । कृपया वीडियो को देखकर उसे सब्सक्राइब करना न भूलिएगा ।
धन्यवाद।।।


ACTING CLASSES / THEATRE GROUPS

Today in the present days everyone wants to be a artist and wants to get name and fame. But there are many problem in this line like where to go, where to learn, how to do, etc. But he can’t decide that which institute is good for him. So that they are acting will improve and then they get name and fame in the film industries. Show the answer of the question is in this video. That where to go and improve acting scale and learn the types of acting and types of emotions. After learning acting there are such kind of questions as where to go for a audition and how many productions are there. And even in the description you will get some scripts of characters. And how to make an audition links, how to prepare for an audition. All this information you will get in this video. So I suggest those person who wants to make a career in film industry should see this video so that they will not face any problems. And they get progress in this career.
What different arts there are different industries. For example= engineering, doctoring, etc. There are many acting institution by government from where big artist game and make their fame in film industry whose name in top. I am from them only film industries are known.
So if you see this video then it will be some easy way for you.

Watch the video, subscribe, like and share.


आवाज़ ही पहचान हैं।

Quality of Sound…

जी हां !! आज हम ध्वनि के विषय में बात करेंगे कि कलाकारों के लिए उनकी आवाज़ क्या मायने रखती है ?

उनके लिए आवाज़ के उतार चढ़ाव का क्या महत्व है ?

अपने संवाद और उसकी अदायगी को लेकर कितना गंभीर रहते हैं ?

आवाज़ कलाकारों के लिए उसका सबसे बड़ा धन होता है।

आवाज़ ही कलाकार की पहचान होती है ।

आवाज़ एक ऐसा एहसास है, जिसे दूर से सुनने से ही पता चल जाता है कि कौन आदमी बोल रहा है, कौन गा रहा है, कौन गुनगुना रहा है, कौन हंस रहा है।

किसी की आवाज बहुत ही मधुर होती है, किसी की आवाज कर्कश होती है , किसी की आवाज पतली होती है अर्थात अलग – अलग आवाजें होती हैं। किसी की आवाज बहुत ही खास होती हैं । किसी की आवाज इतनी कर्कश होती है कि लगता है कि नहीं नहीं, इसकी आवाज नहीं सुन सकते !!! बहुत ही परेशानी होती है किसी की आवाज़ सुनने पर। अर्थात हम उससे दूर भागने की कोशिश करते हैं।

कुछ आर्टिस्ट ऐसे हैं जो अपनी आवाज को लेकर बहुत दुखी रहते हैं। उन्हें लगता है कि उनकी आवाज अच्छी नहीं है । अपनी आवाज की तुलना बड़े-बड़े आर्टिस्टो की आवाज से करते हैं और सोचते हैं कि मेरी आवाज उनके जैसी क्यों नहीं है ?

आवाज के चलते ही लोग फेमस होते हैं। कोई कोई आर्टिस्ट सोचता है कि मेरी आवाज में बेस नहीं है, या मेरी आवाज बहुत पतली है ,बहुत मोटी है, एक तरह से हीन भावना वाली फीलिंग आती है। उन्हें लगता है कि कहीं ऐसा तो नहीं कि हम अपनी आवाज से ही कहीं-कहीं सिलेक्ट होने में मात खा जाते हैं। हमारी आवाज के चलते कोई कोई काम हमारे हाथ में आते आते रह जाते हैं।

तो ऐसा क्या करें, कौन सी तरकीब लगाए कि हमारी आवाज खूबसूरत हो, बेस वाली हो ,बोल्ड हो अर्थात आवाज को कैसे मधुर, खनकदार, यादगार बनाना है ?

कैसे मजबूत बनाना है ?

कैसे उसको खास बनाना है ?

यदि आप इस तरह की भ्रांतियों से परेशान है तो घबराने की कोई जरूरत नहीं और न ही हीन भावना से ग्रसित होने की जरूरत है क्योंकि यह ईश्वर का दिया हुआ उपहार है। हम अपनी आवाज़ को ज्यादा चेंज तो नहीं कर सकते पर इसको पॉलिश जरूर कर सकते हैं। अब अमिताभ बच्चन जी को ही ले लो कि पहले इन्हीं की आवाज को रिजेक्ट कर दिया गया था रेडियो में ……..और आज देखो अमिताभ बच्चन जी की आवाज हमें बढ़िया-बढ़िया ऐड में सुनने को मिलती है । अनेकों सरकारी ऐड में सुनने को मिलती है ।

फिल्मों में तो उनकी आवाज़ की बादशाहत आज भी कायम हैं।

यहां तक कि कई कोई गाने ऐसे हैं जिसमें अमिताभ बच्चन जी ने अपनी आवाज दी है जिसे बहुत सराहा गया हैं, पसंद किया गया है।

अमिताभ बच्चन की तरह एक और फ़िल्म अभिनेता रज़ा मुराद साहब है उनकी आवाज को ले लो, अमरीश पुरी साहब थे उनकी आवाज, कुलभूषण खरबंदा जी की आवाज, जिन्हें हम दूर से सुनने पर पता लगा लेते हैं कि यह कौन से कलाकार की आवाज़ है, जिन्होंने अपनी आवाज के दम पर बहुत नाम कमाया है ,

तो हम भी अपनी आवाज “जैसा कि हमको फील होता है कि मेरी आवाज थोड़ी अच्छी नहीं है, थोड़ी सी पतली है या कर्कश है, भोंदी है” इसके लिए क्या करें ?

एक दो टिप्स है जिसे हम अपना कर अपने आवाज को पॉलिश कर सकते हैं । ऐसे आर्टिस्ट जो अपनी आवाज को लेकर हीन भावना में है । उन्हें यह वीडियो जरूर देखना चाहिए । उन्हें अपनी आवाज के चलते हीन भावना फिल करने की कोई जरूरत नहीं है। वह यह वीडियो देखें और कुछ टिप्स जाने कैसे अपने आवाज को अच्छा से अच्छा बना सकते हैं और अपनी आवाज की जादू से अपने दर्शकों को अपने सुनने वालों का मन मोह सकते हैं ।

बहुत सारे कैरेक्टर हमें ऐसे मिल जाते हैं, जिसमें हमें बहुत चिल्लाना पड़ता है, बहुत गुस्सा करना पड़ता है, तो उस चिल्लाहट में जो हमारी आवाज की जो शक्ति होती है कभी-कभी आगे जाकर कमजोर पड़ जाती है। थकी हुई सी लगने लगती है। फस जाती है, दब जाती है। हमारी आवाज कमजोर न हो, थके न, और अपना कार्य करती रहे…. इसलिए हमें अपनी आवाज के लिए कुछ एक्सरसाइज करनी चाहिए। कलाकारों को अपनी आवाज पर खासतौर पर ध्यान देना चाहिए । जिसके कारण उन्हें अपने डायलॉग बोलने में दिक्कत न हो। किसी भी तरह की आवाज में परेशानी न हो, चाहे रोना पड़े, चिल्लाना पड़े, तो भी उनकी आवाज में कोई खराश न आए। इसके लिए उन्हें अपनी आवाज पर विशेष ध्यान देना चाहिए। ऐसे बहुत सारे आर्टिस्ट है जिन्हें पता नहीं होता कि अपनी आवाज़ को सुधारने के लिए क्या करें ?

अपनी आवाज को निखारने के लिए क्या उपाय करें ताकि उनकी आवाज भी एक अपनी पहचान छोड़ जाए । हालांकि यह ईश्वर द्वारा प्रदान किया गया उपहार है, भगवान ने सबको अपनी अपनी आवाज के साथ अपने अपने चेहरे मोहरे के साथ इस दुनिया में भेजा है जो उनके लिए खास होती है क्योंकि भगवान की रचना अकारण नहीं होती !!!

अतः अपने आवाज पर हीन भावना से ग्रसित होने की कोई जरूरत नहीं है। उसे सुधारने की जरूरत है । उसे पॉलिश करने की जरूरत है।

आपके सुझाव और विचारों का स्वागत है । कृपया वीडियो को देखकर उसे सब्सक्राइब करना न भूलिएगा। धन्यवाद।।।


Dormitory Rent Rs. 300 only for Boys & Girls